AARTI GANESH

AARTI / AARTI GANESH JI KI

गणेश जी की आरती

 

जय गणेशा जय गणेशा जय
गणेशा देवा |
माता जाकी पार्वती ,पिता महादेवा |
एक दंत दयावंता , चार भुजा धारी |
माथे सिंदूर सोहे , मूस की सवारी |
जय गणेशा ,जय गणेशा …||

अन्धना को आंख देता |
कोर्हिना को काया |
निर्धना को माया |
बांझाना को पुत्र देता |
जय गणेशा ,जय गणेशा …||

पान काढ़े , फूला काढ़े |
और काढ़े मेवा |
ळाड्डूँआ को भोग लगे |
समिता करें सेवा |
जय गणेशा ,जय गणेशा …||